श्री अमरनाथ माहात्म्यम _ Shri Amarnath Mahatmya PDF in Sanskrit (1) (1)

[PDF] श्री अमरनाथ माहात्म्यम | Shri Amarnath Mahatmya in Sanskrit Pdf Download

Great. You have finally arrived at the best place for the pdf of your favorite pdf needs. Search your pdf, download on single click and enjoy reading at go.

श्री अमरनाथ माहात्म्यम | Shri Amarnath Mahatmya in Sanskrit Pdf Details
श्री अमरनाथ माहात्म्यम _ Shri Amarnath Mahatmya PDF in Sanskrit (1) (1)
No. of Pages: 5
PDF Size: 1.59 MB
Language: Sanskrit
Category: Religion & Spirituality
Source :  shriamarnathjishrine.com
श्री अमरनाथ माहात्म्यम | Shri Amarnath Mahatmya in Sanskrit Pdf Download

श्री अमरनाथ माहात्म्यम | Shri Amarnath Mahatmya in Sanskrit

श्री अमरनाथ माहात्म्यम – अमरनाथ यात्रा का महत्व PDF

बाबा अमरनाथ की प्रमुख विशेषता यहां मौजूद पवित्र गुफा में प्राकृतिक शिवलिंग का निर्मित होना है और इसके दर्शन करने का काफी महत्व है। गुफा के ऊपर से बर्फ के पानी की बूंदे टपकती है। जिससे बनने वाले लगभग 10 फुट के पवित्र शिवलिंग के दर्शन करने हेतु यहां लाख श्रद्धालु पहुंचते है। आषाढ़ माह की पूर्णिमा से शुरू होकर रक्षाबंधन तक पूरे श्रावण माह में पवित्र शिवलिंग के दर्शन होते है। चन्द्रमा के घटने बढ़ने के साथ-साथ बर्फ से बने शिवलिंग के आकार में परिवर्तन होता है और अमावस्या तक शिवलिंग धीरे-धीरे छोटा होता जाता है। अमरनाथ की गुफा में भगवान शिव ने अमरत्व का रहस्य बताया था। बताया जाता है कि भगवान शिव जब माता पार्वती को कथा सुनाने ले जा रहे थे तब उन्होंने अमरनाथ गुफा से लगभग 96 किलोमिटर दूर स्थित पहलगाव में भगवान शिव ने आराम किया था। उन्होंने अपने बैल नंदी को भी इसी जगह छोड़ा था। जिसके बाद उन्होंने छोटे-छोटे नागों को अनंतनाग में छोड़ दिया था। इसी तरह कपाल के चन्दन को चंदनबाड़ी में तथा पिस्सुओं को पिस्सू टापू पर तथा शेषनाग को शेषनाग पर छोड़ा था। अमरनाथ यात्रा के दौरान यह सभी स्थल रास्ते में आते है एवं इनके दर्शन करना किस्मत वालो को ही मिलता है। अमरनाथ के यात्रा का महत्व जितना समझा जाए उतना कम है।

बाबा अमरनाथ का इतिहास

बाबा अमरनाथ के दर्शन के लिए जाने वाले यात्री “बाबा बर्फानी की जय” के नारो के साथ आगे बढ़ते रहते है। अमरनाथ यात्रा को लेकर कई पौराणिक कथाएं भी है। बताया जाता है कि भगवान शिव ने माता पार्वती को इसी अमरनाथ गुफा में अमर कथा सुनाई थी। बताया जाता है कि जिस दौरान भगवान शिव माता पार्वती को यह कथा सुना रहें थे उस समय उनके अलावा एक कबूतर का जोड़ा मौजूद था। जो यह सुनकर अमर हो गया एवं आज भी अमरनाथ के दर्शन करने जाने वाले श्रद्धालुओं को यह कबूतर को जोड़ा दिखाई देता है। यह भी बताया जाता है कि भगवान शिव ने जब माता पार्वती को गुफा में सुनाई कथा में अमरनाथ यात्रा एवं उसके मार्ग में आने वाले स्थलों का वर्णन था। कई मान्यताओं एवं धार्मिक कथाओं के लबरेज बाबा अमरनाथ के दर्शन करने के लिए श्रद्धालु काफी जद्दोजहद के साथ पहुंचते है एवं बाबा अमरनाथ के दर्शन कर अपने जीवन को धन्य बनाते है।

How to Download श्री अमरनाथ माहात्म्यम | Shri Amarnath Mahatmya in SanskritPdf?

Downloading श्री अमरनाथ माहात्म्यम | Shri Amarnath Mahatmya in Sanskrit pdf is very easy. You can easily download the pdf on your smartphone/desktop by following the steps given below. To download the pdf, follow the points given below.

  1. Now click on the given download link
  2. Wait a few seconds after clicking on the link. Your phone/desktop will start downloading श्री अमरनाथ माहात्म्यम | Shri Amarnath Mahatmya in Sanskrit Pdf in a short time.
  3. After downloading, click on the PDF file and open it in default pdf viewer.

How can I register Amarnath Yatra 2020?

Every applicant must send four passport-sized images, one of which must be signed on the front side. The entry cost for the yatra is Rs 200/- per yatri. The community leader’s mailing address, as well as his or her phone number and e-mail address

Is Amarnath Yatra Open in 2020?

Here you’ll find all the stuff you need. JAMMU: The annual Amarnath Yatra, which brings pilgrims to the Himalayan cave shrine of Amarnath in Jammu and Kashmir, will last 15 days this year.

What is the cost of Amarnath Yatra?

A horseback ride to the Amarnath cave will cost anything from 3200 to 5,000 rupees per human. For a round trip on the longer Pahalgam highway, the government has set a price of 3200 rupees.

How do I get permission for Amarnath Yatra?

The pilgrim must send the following documentation to the Registration Officer at the registration centre in order to apply for the Yatra Permit: Prescribed application form filled out. Prescribed Compulsory Health Certificate (CHC) by a licenced physician or medical facility.

श्री अमरनाथ माहात्म्यम | Shri Amarnath Mahatmya in Sanskrit Pdf Download

I hope you have enjoyed downloading your श्री अमरनाथ माहात्म्यम | Shri Amarnath Mahatmya in Sanskrit pdf from our website. For suggestions, comment on the site. We are continuously working to deliver whatever you require in the way you need. Thank You.

If the श्री अमरनाथ माहात्म्यम | Shri Amarnath Mahatmya in Sanskrit PDF download link is broken or has any other issues, please REPORT IT by choosing the required activities such as copyright material / promotional content / broken link, etc. If the श्री अमरनाथ माहात्म्यम | Shri Amarnath Mahatmya in Sanskrit pdf is a copyrighted item, we will not include a PDF or any other download source.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *